महासागरीय धाराएं ocean currents & प्रशांत महासागर की धाराएँ

धाराओं की उत्पत्ति का कारण सागर का जल सदा गतिशील रहता है। सन्मार्गी पवनों का प्रवाह, जल के ताप और घनत्व में अन्तर, वर्षा की मात्रा और पृथ्वी गतिशीलता आदि कारक धाराओं को जन्म देने में सहायक होते हैं। प्रशांत…

Read More

भारत की स्थिति एवं विस्तार

स्थितिभौगोलिक दृष्टि से भारत का मुख्य भूभाग 8°4′ से 37°6′ उत्तर अक्षांश तथा 68°7′ मिनट से 97°25′ पूर्वी देशांतर तक फैला है। 2004 के पूर्व इस का सबसे दक्षिणी छोर या दक्षिणतम बिंदु 6°4′ उत्तर अक्षांश पर स्थित था जो…

Read More